कॉन्डम (आंतरिक)

कॉन्डम (आंतरिक)

कॉन्डम (आंतरिक)

आंतरिक (महिला) और बाहरी (पुरुष) कॉन्डम गर्भनिरोधक में बाधा तरीके हैं। ये शुक्राणु को अंडे से मिलने नहीं देते  हैं।

एक आंतरिक कॉन्डम पॉलीयुरेथेन (सॉफ्ट प्लास्टिक) या नाइट्राइल पॉलीमर (सिंथेटिक रबड़) से बना होता है। इसे योनी में लगाया जाता है और इसे शिथिल रूप से रेखाबद्ध किया जाता है।

एक नज़र में

प्रभावशीलता: आंतरिक कॉन्डम सबसे प्रभावी होते हैं जब पूरी तरह से उपयोग किया जाता है। वे सही उपयोग के साथ गर्भावस्था को रोकने में 95 प्रतिशत प्रभावी हैं और सामान्य उपयोग के साथ 79 प्रतिशत प्रभावी हैं।

 यौन संबंध से पहले याद रखें: हर बार जब भी आप यौन संबंध बनाएँ,तो एक नए कॉन्डम का प्रयोग करें। आप चाहें तो पहले से लगा सकते हैं।

मासिक धर्म: कॉन्डम आपके मासिक धर्म को नहीं बदलेगा।

एसटीआई सुरक्षा: हाँ, बाहरी कॉन्डम और आंतरिक कॉन्डम गर्भनिरोधक के एकमात्र तरीके हैं, जो आपको एसटीआई से बचाने में मदद करते हैं। 

हार्मोन: कोई हार्मोन नहीं।

प्रभावशीलता

कोई गर्भनिरोधक कितना प्रभावी है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने साल के हैं, आप कितनी बार यौन संबंध स्थापित  करते हैं और क्या आप निर्देशों का पालन करते हैं।यदि 100 यौन सक्रिय महिलाएँ  किसी गर्भनिरोधक का उपयोग नहीं करती हैं, तो एक वर्ष में 80 से 90 महिलाएँ  गर्भवती हो जाएँगी।

सही उपयोग: यदि आंतरिक कॉन्डम हमेशा निर्देशों के अनुसार उपयोग किए जाते हैं, तो वे 95 प्रतिशत प्रभावी होते हैं। इसका मतलब है कि 100 में से पाँच महिलाएँ साल में एक बार  गर्भवती होंगी।

विशिष्ट उपयोग: यदि निर्देशों के अनुसार हमेशा आंतरिक कॉन्डम का उपयोग नहीं किया जाता है, तो 100 में से लगभग इक्कीस महिलाएँ साल में एक बार गर्भवती हो जाएँगी।

यौन संबंध बनाने के दौरान शुक्राणु योनी में जा सकते हैं, भले ही आप कॉन्डम का इस्तेमाल करें। ऐसा हो सकता है अगर: 

·        कॉन्डम लगाने से पहले लिंग योनी के आसपास के क्षेत्र को छूता है (वीर्यपात पूर्व द्रव, जो वीर्यपात से पहले लिंग से बाहर निकलता है, उसमें शुक्राणु हो सकते हैं)

·        कॉन्डम फट जाता है

·        आप गलत प्रकार या गलत आकार के कॉन्डम का उपयोग करते हैं

·        आप कॉन्डम का सही इस्तेमाल नहीं करते हैं

·        कॉन्डम फिसल जाता है

·        कॉन्डम क्षतिग्रस्त हो जाता है, उदाहरण के लिए नुकीले नाखूनों या गहनों से

·        आप बहुत अधिक या बहुत कम स्नेहक (चिकनाई) का उपयोग करते हैं

·        आप लेटेक्स या पॉलीसोप्रीन कॉन्डम के साथ तेल आधारित उत्पादों (जैसे बॉडी लोशन) का उपयोग करते हैं। ये कॉन्डम को नुकसान पहुँचाते हैं। यदि इनमें से कोई भी कारण होता है या यदि आपने गर्भनिरोधक का उपयोग किए बिना यौन संबंध बनाएँ हैं, तो आप आपातकालीन गर्भनिरोधक( emergency contraception) के बारे में सलाह ले सकते हैं। 

कॉन्डम का उपयोग कौन कर सकता है?

आंतरिक कॉन्डम ज़्यादातर लोगों के लिए उपयुक्त होते हैं।

यदि आप उन्हें डालने के लिए जननांग क्षेत्र को छूने में सहज महसूस नहीं करते हैं, तो वे उपयुक्त नहीं हो सकते हैं।

लाभ

·        आपको इनका उपयोग केवल तभी करना चाहिए, जब आप यौन संबंध स्थापित  करते हैं।

·        दोनों भागीदारों को एचआईवी सहित कुछ यौन संचारित संक्रमणों से बचाने में मदद करते हैं।

·        कॉन्डम के प्रयोग  से कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं होते हैं।

·        सेक्स से पहले किसी भी समय एक आंतरिक कंडोम लगाया जा सकता है।

नुकसान

आंतरिक कॉन्डम का उपयोग करते समय, आपको यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि लिंग कॉन्डम में है न कि कॉन्डम और योनी के बीच कॉन्डम कंडोम का खुला सिरा योनी के बाहर रहता है।

आंतरिक कॉन्डम बाहर निकल सकते हैं या योनी में धकेले जा सकते हैं।

गर्भावस्था के बाद कॉन्डम का प्रयोग

मेरा अभी-अभी बच्चा हुआ है, क्या मैं कॉन्डम का इस्तेमाल कर सकती हूँ? 

आप बच्चा पैदा करने के तुरंत बाद कॉन्डम का उपयोग कर सकती हैं – अतिरिक्त स्नेहक (चिकनाई) का उपयोग करने से यौन संबंध को और अधिक आरामदायक बनाने में मदद मिल सकती है। क्या मैं गर्भपात या गर्भपात के बाद कॉन्डम का उपयोग कर सकती हूँ? गर्भपात होने के तुरंत बाद आप कॉन्डम का उपयोग कर सकते हैं। 

मुझे आंतरिक कॉन्डम कहाँ मिल सकता है?

आंतरिक कॉन्डम बाहरी कॉन्डम की तरह व्यापक रूप से उपलब्ध नहीं हैं।

वे कुछ गर्भनिरोधक और यौन स्वास्थ्य क्लीनिक और युवा लोगों की सेवाओं और कुछ सामान्य प्रथाओं और जननांग चिकित्सा (जीयूएम) क्लीनिकों से मुक्त हैं।

आप उन्हें ऑनलाइन और कुछ फार्मेसियों से खरीद सकते हैं।

कॉन्डम का उपयोग कैसे करें ?

Follow our guide to using external and internal condoms >>

जानने योग्य अन्य बातें

मुझे कॉन्डम के साथ स्नेहक का उपयोग कब करना चाहिए?

आंतरिक कॉन्डम को उपयोग में आसान बनाने के लिए चिकनाहट से  तैयार होते हैं। कुछ कुछ लोग अतिरिक्त चिकनाहट का उपयोग करना भी पसंद करते हैं।

आंतरिक कॉन्डम के साथ किसी भी चिकनाहट का उपयोग किया जा सकता है क्योंकि वे पॉलीयुरेथेन या नाइट्राइल से बने होते हैं। इसमें शरीर के तेल, क्रीम, लोशन या पेट्रोलियम जेली शामिल हैं।

यदि आप जननांग क्षेत्र में दवा का उपयोग कर रहे हैं, उदाहरण के लिए, क्रीम, सपोसिटरी या पेसरी, तो भी आप आंतरिक कॉन्डम का उपयोग कर सकते हैं।

क्या मुझे शुक्राणुनाशक का उपयोग करने की आवश्यकता है? 

नहीं, यदि सही तरीके से उपयोग किया जाता है, तो कॉन्डम गर्भनिरोधक का एक प्रभावी तरीका है और आपको अतिरिक्त शुक्राणुनाशक की आवश्यकता नहीं है – एक रसायन जो शुक्राणु को मारता है।

ओरल सेक्स के लिए कौन से कॉन्डम सबसे अच्छे हैं? 

ओरल सेक्स के लिए किसी भी कॉन्डम का इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि, फ्लेवर्ड कॉन्डम एक अच्छा विकल्प है क्योंकि वे कई प्रकार के फ्लेवर में आते हैं।

क्या कॉन्डम के छिद्रों से शुक्राणु यात्रा कर सकते हैं? 

नहीं, न तो लेटेक्स और न ही पॉलीयूरेथेन कॉन्डम में छिद्र होते हैं।

यह सुनिश्चित करने के लिए कॉन्डम का परीक्षण कैसे किया जाता है कि वे काम करेंगे? 

कॉन्डम को जाँचने के लिए कई अलग-अलग परीक्षणों से गुजरना पड़ता है: 

·        वे छेद से मुक्त हैं

·        लेटेक्स की ताकत और खिंचाव

·        एक को फोड़ने के लिए आवश्यक वायु दाब

·        पैकेजिंग की सुरक्षा 

छुट्टी पर जा रहे हैं? 

कॉन्डम साथ रखना  हमेशा एक अच्छा विचार है – भले ही वह ‘जस्ट केस’ ही क्यों न हो। अगर आप विदेश जा रहे हैं, तो यूके से अपना पसंदीदा ब्रांड लें। इस तरह आपको किसी स्थानीय ब्रांड पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा, जिसे किसी विदेशी भाषा में पैक किया जा सकता है या जो समान मानकों पर निर्मित नहीं हो सकता है।

मुझे कॉन्डम कहाँ रखना चाहिए? 

कॉन्डम और अलग-अलग कॉन्डम के पैकेट हमेशा ऐसे रखें जहाँ तेज़ गर्मी, नुकीली चीज़ें, रोशनी या नमी से उन्हें नुकसान न पहुँचे । 

Share:

Facebook
WhatsApp
Aviral
Reviewed By : Dr. Aviral Vatsa

Social Media

Most Popular

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Categories

On Key

Related Posts

Bronchitis | Causes | Symptoms | Treatment |

Bronchitis

Bronchitis makes your lungs get irritated and swollen. This makes you cough a lot, sometimes for a few weeks.